+91-9927095289   |    Login

Projects 2 : Rural Development

Rural Development

India is a country of villages and about 50% of the villages have very poor socio-economic conditions. Since the dawn of independence, concerted efforts have been made to ameliorate the living standard of rural masses. So, rural development is an integrated concept of growth and poverty elimination has been of paramount concern in all the consequent five year plans. Rural Development (RD) programmes comprise of following:
भारत गांवों का देश है और लगभग 50% गांवों में सामाजिक-आर्थिक स्थितियां बहुत खराब हैं। आजादी की शुरुआत के बाद, ग्रामीण जनता के जीवन स्तर को सुधारने के लिए ठोस प्रयास किए गए हैं। इसलिए, ग्रामीण विकास विकास की एक एकीकृत अवधारणा है और गरीबी उन्मूलन सभी पांच साल की योजनाओं में सबसे ज्यादा चिंता का विषय रहा है। ग्रामीण विकास (आरडी) कार्यक्रमों में निम्नलिखित शामिल हैं:

  • Provision of basic infrastructure facilities in the rural areas e.g. schools, health facilities, roads, drinking water, electrification etc.
    ग्रामीण क्षेत्रों में बुनियादी ढांचा सुविधाओं का प्रावधान उदा। स्कूल, स्वास्थ्य सुविधाएं, सड़कों, पेयजल, विद्युतीकरण इत्यादि।
  • Improving agricultural productivity in the rural areas.
    ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि उत्पादकता में सुधार।
  • Provision of social services like health and education for socio-economic development.
    सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए स्वास्थ्य और शिक्षा जैसे सामाजिक सेवाओं का प्रावधान।
  • Implementing schemes for the promotion of rural industry increasing agriculture productivity, providing rural employment etc.
    कृषि उद्योग को बढ़ावा देने, ग्रामीण रोजगार आदि प्रदान करने के लिए ग्रामीण उद्योग को बढ़ावा देने के लिए योजनाएं कार्यान्वित करना।
  • Assistance to individual families and Self Help Groups (SHG) living below poverty line by providing productive resources through credit and subsidy.
    क्रेडिट और सब्सिडी के माध्यम से उत्पादक संसाधन प्रदान करके गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले व्यक्तिगत परिवारों और स्व-सहायता समूहों (एसएचजी) की सहायता।